भारतीय मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि अप्रैल से जून तक भारत के अधिकांश क्षेत्रों में तापमान सामान्य से अधिक ही रहेगा। इसलिए इस साल गर्मी का मौसम और भी अधिक परेशानी देगा।

हालांकि मौसम विभाग ने यह भी कहा है कि पूर्व, पूर्व-मध्य और ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में तापमान सामान्य से कम रहेगा। इसका मतलब है कि मानसून समय से आएगा। उत्तर और मध्य भारत में औसत सामान्य तापमान से अधिक तापमान से गर्मी पिछले कुछ सालों की ही तरह भीषण पड़ने वाली है। पिछले साल मौसम विभाग ने सबसे गर्म साल दर्ज किया है।

वर्ष 2016 को वर्ष 1901 से अब तक सबसे गर्म साल घोषित किया गया था। उस साल राजस्थान के फलोडी में 51 सेल्सियस डिग्री तापमान दर्ज किया गया था। मौसम विभाग की भविष्यवाणी के अनुसार सामान्य से अधिक तापमान होने के बावजूद इस साल गर्मी वर्ष 2017 की तपिश से कुछ कम होगी। मौसम विभाग के महानिदेशक केजे रमेश ने कहा कि पूर्व, पूर्व मध्य और दक्षिण भारत में आंधी-तूफान आएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here