युद्धग्रस्त इराक में मारे गए 39 भारतीयों में से 38 के अवशेष आज स्वदेश लाए जाएंगे। इसके लिए विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह रविवार को इराक पहुंचे हैं, जहां उन्हें सभी के अवशेष सौंप दिए गए हैं। इनमें पंजाब के 27, बिहार के छह, हिमाचल के चार और बंगाल के दो लोग शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक 39वें शव के डीएनए सहित अन्य जांच की प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाई है। ऐसे में इसके लिए बाद में प्रयास किया जाएगा। वीके सिंह ने बताया कि परिसभी मारे गए भारतीयों के अवशेष को ताबूत में रखा गया है। बगदाद एयरपोर्ट से उड़ान भरी जाएगी और दोपहर तक वीके सिंह भारत पहुंच जाएंगे। उन्होंने सहारा देकर सभी ताबूतों को विमान में रखा। इराक में भारत के राजदूत प्रदीप सिंह राजपुरोहित ने बताया कि अवशेषों के ताबूतों को बगदाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर विमान में रखवा दिया गया है। यह विमान आज (सोमवार) दोपहर तक अमृतसर एयरपोर्ट पर पहुंचेगा। इसके बाद विमान पटना तथा कोलकाता पहुंचेगा, जहां परिजनों को शव सौंपे जाएंगे।जनों को किसी प्रकार का शक न हो, इसलिए शव सौंपते समय उन्हें सबूत भी उपलब्ध कराए जाएंमालूम हो कि इसी महीने की शुरुआत में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने संसद को बताया था कि जून 2014 में इराक के मोसुल से आइएस ने 40 भारतीयों का अपहरण कर लिया था। उनमें से एक व्यक्ति खुद को बांग्लादेशी मुस्लिम बता कर वहां से निकल आया और बाकी 39 भारतीयों की हत्या कर दी गई। उनके शवों की पहचान डीएनए जांच से हुई है। उनके इस बयान के बाद विपक्ष ने सुषमा पर देश को गुमराह करने का आरोप लगाया था। लेकिन सुषमा स्वराज का कहना था कि उनके पास उन भारतीयों के जीवित या मृत होने के कोई पुख्ता प्रमाण नहीं थे। इसलिए बगैर प्रमाण वह किसी को मृत घोषित नहीं कर सकती थीं। गे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here